उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, Uttarakhand Saubhagyavati Yojana

Uttarakhand Saubhagyavati Yojana 2023 | उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना ऑनलाइन आवेदन एवं आवेदन फॉर्म व पात्रता तथा लाभ

उत्तराखंड सरकार द्वारा राज्य के नागरिको के लिए समय-समय पर विभिन प्रकार की योजना को शुरू किया जाता है जिसके माध्यम से नागरिको के जीवन स्तर में सुधार किया जा सके। ऐसे में उत्तराखंड राज्य के मुख्यमंत्री जी द्वारा उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना को शुरू किया है जिसके माध्यम से गर्भवती महिलाओं और नवजात बच्चों को लाभ पहुंचाने के लिए शुरू की गयी है इस योजना में 2 अलग किट बनाए जाएंगे जहां एक गर्भवती महिलाओं के लिए होगा और दूसरा नवजात बच्चों के लिए होगा। इस Uttarakhand Saubhagyavati Yojana के अंतर्गत राज्य की गर्भवती महिलाओ और नवजात शिशुओं की साफ-सफाई और पोषण के लिए किट और कपड़े राज्य सरकार द्वारा प्रदान किये जायेगे। आज हम आपको इस योजना से सम्बन्धी जानकारी प्रदान करने जा रहे है जो आपको इस योजना का लाभ उठाने में सहयता प्रदान करेगी। इसलिए आपसे अनुरोध है कृप्या इस लेख को आखिर तक अवश्य पढ़े।

उत्तराखंड-सौभाग्यवती-योजना-2020-768x432

Uttarakhand Saubhagyavati Yojana 2023

उत्तराखंड सरकार द्वारा राज्य के गर्भवती महिलाओं और नवजात बच्चों को लाभ पहुंचाने के लिए उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना को शुरू किया गया है जिसके माध्यम से 2 अलग किट बनाए जाएंगे जहां एक गर्भवती महिलाओं के लिए होगा और दूसरा नवजात बच्चों के लिए होगा। इस योजना के अंतर्गत किट में स्थानीय पहनावों एवं मौसम के अनुकूल वस्त्र तैयार कर दिये जाने की भी व्यवस्था रहेगी। इस Uttarakhand Saubhagyavati Yojana के तहत उत्तराखंड की गर्भवती महिलाओ और नवजात शिशुओं के बेहतर स्वास्थ्य के लिए ज़रूरी पौष्टिक भोजन प्रदान किया जायेगा। राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते है तो उन्हें इस योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करना होगा।इस योजना में आयकर देने वाले तथा सरकारी अधिकारियों व कर्मचारियों के आश्रित शामिल नहीं रहेंगे।

Uttarakhand Shadi Anudan Yojana

 

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना का उद्देश्य

जैसे की आप सभी लोग जानते है गर्भवस्था के समय सभी गर्भवती महिलाओ को ज़्यादा से ज़्यादा स्वच्छता और पौष्टिक आहार की ज़रूरत होती है परन्तु परिवार की आर्थिक स्थिति कमज़ोर होने के वजह से वह अच्छे से पौष्टिक आहार नहीं मिल पाते और नवजात शिशुओं को भी इन सभी चीज़ो की ज़रूरत होती है इसे समस्या को देखते हुए राज्य सरकार ने Uttarakhand Saubhagyavati Yojanaको आरम्भ करने की घोषणा की है इस योजना का मुख्य उद्देश्य उत्तराखंड की गर्भवती महिलाओ और नवजात शिशुओं को उचित  स्वच्छता सुनिश्चित करना और उनके बेहतर स्वास्थ्य के लिए आवश्यक पौष्टिक भोजन प्रदान करना है। यह मातृ मृत्यु दर (MMR) के साथ-साथ शिशु मृत्यु दर (IMR) को कम करेगा।इससे उनके स्वास्थ्य एवं रहन सहन में निश्चित रूप से बदलाव आएगा।

Uttarakhand Smart Ration Card

Highlight Of Uttarakhand Saubhagyavati Yojana

योजना का नाम उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना
इसके द्वारा घोषणा की गयी मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी के द्वारा
लाभार्थी गर्भवती महिलाये और नवजात शिशु
उद्देश्य पोषण के लिए किट और कपड़े प्रदान करना
राज्य उत्तराखंड

गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशुओं के लिए किट में क्या है

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जल्द ही उत्तराखंड में इस सौभाग्‍यवती परियोजना को शुरू करेंगे। यह उतना ही ज़रूरी है जितना पौष्टिक भोजन, सूखे मेवे, प्रसाधन और कपड़े जो महिलाओं और उनके नवजात बच्चों के लिए सुनिश्चित किए जाने हैं उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना के तहत, 2 अलग किट बनाए जाएंगे-एक महिलाओं के लिए और दूसरा नवजात शिशुओं के लिए। किट में मौसम की स्थिति के अनुसार कपड़े भी शामिल होंगे।

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना के लाभ

  • इस योजना का लाभ उत्तराखंड की गर्भवती महिलाओ और नवजात शिशुओं को प्रदान किया जायेगा।
  • राज्य की गर्भवती महिलाओ और नवाजत शिशुओं को इस योजना के ज़रिये उचित स्वच्छता सुनिश्चित करना और उनके बेहतर स्वास्थ्य के लिए ज़रूरी पौष्टिक भोजन प्रदान करना।
  • Uttarakhand Saubhagyavati Yojana के अंतर्गत राज्य की गर्भवती महिलाओ और नवजात शिशुओं की साफ-सफाई और पोषण के लिए किट और कपड़े राज्य सरकार द्वारा प्रदान किये जायेगे।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वस्थ समाज के लिए गर्भवती महिलाओं एवं नवजात शिशुओं की बेहतर देखभाल की जरूरत है।
  • इस योजना  तहत गर्भवती महिलाओं एवं नवजात शिशुओं को दैनिक उपयोग की सामग्री आदि अलग-अलग किटों में तैयार कर प्रदान किए जाने की व्यवस्था की जा रही है।

Saubhagyavati Yojana में गर्भवती महिलाओ के लिए  किट में आइटम

250 बादाम गिरी/सुखी खुमानी/अखरोट दो कॉटन गाउन/साड़ी/सूट
एक शॉल गर्म फुल साईज 500 ग्राम छुआरा
1 स्कॉर्फ कॉटन/गर्म स्टैंडर्ड साइज दो जोड़े जुराब स्टैंडर्ड साइज
एक तौलिया बड़े साइज का दो पैकेट सैनिटरी नैपकिन (आठ प्रति पैकेट)
दो जोड़े बेड शीट (तकिये के कवर सहित) एक नेल कटर
200 एम.एल हैण्डवाश लिक्विड एक नारियल/तिल/सरसों/चुलू का तेल
दो कपड़े धोने का साबुन दो नहाने का साबुन

सौभाग्यवती योजना में नवजात बच्चों के किट में सामान की सूची

मौसम के अनुसार सूती या गर्म दो जोड़े शिशु के कपड़े, टोपी और जुराब सहित एक पैकेट (10 पीस) कॉटन डाइपर एक तेल
1 बेबी तौलिया कॉटन सॉफ्ट 1 पाउडर तीन बेबी साबुन
एक रबर शीट एक समस्त सामग्री पैक करने के लिए सूती बैग शामिल रहेगा दो बेबी ब्लैंककेट गर्म अथवा कॉटन (मौसम अनुसार)

ज़रूरी दस्तावेज़ (योग्यता)

  • इस योजना के तहत सिर्फ गर्भवती महिलाओ और नवजात शिशुओं को ही पात्र माना जायेगा।
  • आवेदक  उत्तराखंड के स्थायी निवासी होने चाहिए।
  • केवल 18 वर्ष से ऊपर की गर्भवती महिलाएँ ही पात्र होंगी।
  • आयकर का भुगतान करने वाले सभी सरकारी कर्मचारियों के परिवार और आश्रितों को परियोजना के तहत कवर नहीं किया जाएगा।
  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • गर्भवती महिला की आयु प्रमाण पत्र (जैसे जन्म प्रमाण पत्र या 10 वीं कक्षा की मार्कशीट)
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

Uttarakhand Saubhagyavati Yojana Online Apply

राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते है तो उन्हें अभी थोड़ा इंतज़ार करना होगा क्योकि अभी उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना शुरू करने की घोषणा की गयी है अभी इस योजना को शुरू नहीं किया गया है मुख्यमंत्री जी का कहना है की जल्द ही इस योजना की शुरू किया जायेगा। जैसे ही इस योजना की आरम्भ कर दिया जायेगा और इस योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया को आरम्भ कर दिया जायेगा। हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से बता देंगे। इसके बाद आप इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकेंगे।

Conclusion

दोस्तों हमने आप सभी को Uttarakhand Saubhagyavati Yojana से सम्बंदित जानकारी प्रदान की है,अगर अभी भी आपको कसी भी तरह की कोई परेशनी का सामना करना पड़ रहा है। तो आप हमसे कमेंट के ज़रिये से मालूम कर सकते है आपका एक एक कमेंट हमारे लिए बहुत महत्पूर्ण है। हम आपकी समस्या का समाधान करने के लिए निरंतर प्रयास करेंगे धन्यवाद।

Leave a Comment