कीट रोग नियंत्रण योजना 2022-ऑनलाइन आवेदन: Keet Rog Niyantran Yojana

Keet Rog Niyantran Yojana | कीट रोज नियंत्रण योजना ऑनलाइन आवेदन | UP Keet Rog Niyantran Yojana Online Registration | उत्तर प्रदेश कीट रोग नियंत्रण योजना

बदलते हुए मौसम की वजह से किसानो की फसलों में कीट-रोग लगने और खरपतवार लगाने की वजह से फसल ख़राब होने लगती है जिसके लिए किसान फसल का बचाओ करने के लिए कीट प्रबंधक रसायनों के अलावा कीटनाशकों का इस्तेमाल करना पड़ता है लेकिन इन सब के उपयोग से किसानो की आय पर असर पड़ता है इन समस्या को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के किसानो की सहयता में वर्ष 2018-19 से 2021-22 के लिए कीट रोग नियंतरण योजना को जारी किया हुआ है इस योजना के सफलतापूवक कार्य को देख राज्य सरकार द्वारा ओर 5 वर्ष के लिए इस योजना को जारी रखने के लिए मंज़ूरी प्रदान कर दी है तो दोस्तों आइए और हमारे साथ जानिए कि Keet Rog Niyantran Yojana और इससे जुडी सभी महत्वपूर्ण जानकारी। जो आपको इस योजना का लाभ प्राप्त करने में सहयता प्रदान करेगी।

Keet Rog Niyantran Yojana 2022

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के किसानो की फसल का बचाओ के लिए कीट रोग नियंत्रण योजना के माध्यम से कीटनाशकों और फसलों पर कीटनाशक का छिड़काव करने वाली उपकरण पर सब्सिडी प्रदान करना है इस योजना को वित्तीय वर्ष 2017-18 से 2021-22 तक के लिए राज्य में लागू किया गया था लेकिन अब राज्य सरकार द्वारा इस योजना को वर्षो 2022-23 से 2026-27 तक के लिए बढ़ा दिया गया है राज्य के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी की अध्यक्षता में 6 सितंबर मंगलवार के दिन हुई मंत्रिमंडल बैठक में विभिन्न परिस्थितिकी संसाधनों के माध्यम से किसानो की फसल का बचाओ करने के लिए Keet Rog Niyantran Yojana के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की है अब इस योजना के ज़रिये से किसान सालाना खरपतवार से होने वाली 15 से 20% नुकसान, फसल रोगों से 26% नुकसान और कीटों से 20% होने वाले नुकसान से बच सकते है।

UP Khet Talab Yojana

image-47-768x768

Key Highight – कीट रोज नियंत्रण योजना

योजना का नाम कीट रोज नियंत्रण योजना
शुरू की गई उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा
संबंधित विभाग कृषि विभाग
लाभार्थी उत्तर प्रदेश के किसान
उद्देश्य कीटनाशकों पर और कीटनाशक छिड़काव करने वाली मशीनों पर सब्सिडी प्रदान करना
योजना पर खर्च किए जाएंगे 19257.75 करोड़ रुपए (5 वर्षों में)
ऑफिसियल वेबसाइट यहाँ क्लिक करे

कीट रोज नियंत्रण योजना के कार्य पर 5 साल में 19257.75 करोड़ रुपए का खर्च

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के किसानो के लिए Keet Rog Niyantran Yojana को 2022-23 से 2026-27 तक बढ़ा दिया गया है जिसके अंतर्गत सरकार द्वारा 19257.75 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। और फ़िलहाल के वर्ष  2022-23 में 34.17 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। इस योजना के माध्यम से पिछले पांच वर्षो में राज्य सरकार द्वारा 1,58,321 किसानो को अनेक कार्य मदों में लाभ प्रदान किया गया है इस बार भी राज्य सरकार प्रदेश के लाखो किसानो को कीटनाशकों और फसलों पर कीटनाशक का छिड़काव करने वाले उपकरण पर सब्सिडी प्रदान की जाएगी। जिससे किसानो की आर्थिक स्तिथि मजबूत बनेगी साथ ही अच्छी आय प्राप्त कर सकेंगे।

UP Parivar Kalyan Card

किसानों को जैविक दवाइयों पर मिलेगा 75% अनुदान

राज्य सरकार द्वारा किसानो को उनकी फसल का बचाओ करने के लिए कीटनाशक एवं कृषि उपकरण खरीदने पर सब्सिडी प्रदान की जाती है जिसके अंतर्गत किसानो को खाद उत्पादन हतु बायोपेस्टीसाइडस तथा बायोएजेन्ट्स 75% सब्सिडी प्रदान की जाती है इस समय प्रदेश में खरपतवार/कीट/रोग के नियंत्रण के लिए एकीकृत नाशजीव प्रबंधन तकनीक में बढ़ावा दिया जा रहा है इस वजह से ही राज्य में किसी विभाग द्वारा 09 आई.पी.एम. लैब को स्थापित किए गए है जिसके अंतर्गत बायोपेस्टीसाइड्स जैसे – ट्राइकोडरमा, ब्यूवेरिया वैसियाना, एन.पी.वी. और बायोएजेंट्स जैसे कि ट्राइकोग्रामा कार्ड का उत्पादन किया जा रहा है।

रासायनिक दवाइयां और स्प्रेयर पर 50% सब्सिडी प्रदान की जाएगी

राज्य के किसानो को मौसम के बदलाव की वजह से फसलों में वाले कीट-रोग और खरपतवार लगने की वजह से फसलों का बचाओ करना पड़ता है इसलिए सरकार द्वारा किसानो की सहयता करने हेतु इस योजना के माध्यम से खरपतवार/कीट/रोग के नियंत्रण के लिए कृषि रक्षा रसायनों पर 50% अनुदान दिया जाता है आपको बतादे यूपी सरकार द्वारा 2022-23 के लिए किसानों को 1.95 लाख हेक्टेयर भूमि क्षेत्रफल के लिए रक्षा रसायन पर सब्सिडी उपलब्ध कराई जाएगी। साथ ही जिन उपकरण से रासायनिक दवाइयां को फसल पर छिड़का जाता है जैसे- नैपसेक स्प्रेयर, पावर स्प्रेयर आदि पर 50% अनुदान प्रदान किया जाएगा। साल 2022–23 के अंतर्गत राज्य के 6000 कृषि यंत्र उपलब्ध कराये जाएंगे। Keet Rog Niyantran Yojana के माध्यम से 2022 से 2027 तक राज्य के 4142,000 किसानो को लाभवन्ति किया जाएगा।

eMandi UP

यूपी कीट रोग नियंतरण योजना का फायदे एवं गुण

  • राज्य के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी की अध्यक्षता में 6 सितंबर मंगलवार के दिन हुई मंत्रिमंडल बैठक में विभिन्न परिस्थितिकी संसाधनों के माध्यम से किसानो की फसल का बचाओ करने के लिए इस योजना के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की है
  • राज्य सरकार द्वारा इस योजना को ओर पांच वर्षो 2022-23 से 2026-27 तक के लिए बढ़ा दिया गया है
  • इस योजना के ज़रिये से किसान सालाना खरपतवार से होने वाली 15 से 20% नुकसान, फसल रोगों से 26% नुकसान और कीटों से 20% होने वाले नुकसान से बच सकते है।
  • Keet Rog Niyantran Yojana के माध्यम से पिछले 2017-18 से 2021-22 वर्षो में राज्य सरकार द्वारा 1,58,321 किसानो को अनेक कार्य मदों में लाभ प्रदान किया गया है।
  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के किसानो के लिए कीट रोज नियंत्रण योजना 2022-23 से 2026-27 अंतर्गत 19257.75 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।
  • फ़िलहाल के वर्ष  2022-23 में 34.17 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।
  • राज्य सरकार इस योजना से किसानो को खाद उत्पादन हतु बायोपेस्टीसाइडस तथा बायोएजेन्ट्स 75% सब्सिडी प्रदान की जाती है
  • इस समय प्रदेश में खरपतवार/कीट/रोग के नियंत्रण के लिए एकीकृत नाशजीव प्रबंधन तकनीक में बढ़ावा दिया जा रहा है इस वजह से ही राज्य में किसी विभाग द्वारा 09 आई.पी.एम. लैब को स्थापित किए गए
  • राज्य के किसानो को मौसम के बदलाव की वजह से फसलों में वाले कीट-रोग और खरपतवार लगने की वजह से फसलों का बचाओ करना पड़ता है इसलिए सरकार द्वारा किसानो की सहयता करने हेतु इस योजना के माध्यम से खरपतवार/कीट/रोग के नियंत्रण के लिए कृषि रक्षा रसायनों पर 50% अनुदान दिया जाता है
  • कीट रोग नियंत्रण योजना के माध्यम से 2022 से 2027 तक राज्य के 4142,000 किसानो को लाभवन्ति किया जाएगा।

कीट रोग नियंत्रण योजना की पात्रता एवं आवयशक डॉक्यूमेंट

  • उत्तर प्रदेश का आवेदक ही इस योजना का लाभ प्राप्त करने के योग्य है।
  • राज्य के किसान ही इस योजना के तहत आवेदन करने के योग्य है।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जमीन से जुड़े कागजात
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

Keet Rog Niyantran Yojana Registration

  • आवेदक किसान को सबसे पहले अपने जिले कृषि विभाग में जाना है।
  • कृषि विभाग में जाने के बाद वह से योजना के तहत आवेदन फॉर्म प्राप्त करना है।
  • इसके बाद फॉर्म में मालूम की गयी सभी जानकारी को धियानपूर्वक दर्ज करना है।
  • अब आपको फॉर्म के साथ सभी ज़रूरी दस्तावेज़ जोड़ने है।
  • फिर आपको यह फॉर्म उसी कृषि विभाग में जमा करना है जहा से आपने इसे प्राप्त किया था।
  • इस तरह आप आसानी से इस योजना का लाभ उठा के लिए आवेदन कर सकते है।

Conclusion

दोस्तों हमने आप सभी को कीट रोग नियंत्रण योजना से सम्बंदित जानकारी प्रदान की है,अगर अभी भी आपको कसी भी तरह की कोई परेशनी का सामना करना पड़ रहा है। तो आप हमसे कमेंट के ज़रिये से मालूम कर सकते है आपका एक एक कमेंट हमारे लिए बहुत महत्पूर्ण है। हम आपकी समस्या का समाधान करने के लिए निरंतर प्रयास करेंगे धन्यवाद।

Leave a Comment